पेड़ के नीचे 12 घंटे पति को लेकर बैठी रही महिला, न मिला इलाज, हुई मौत

-गुना जिला अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही आई सामने

भोपाल. गुना. प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर एक बार फिर से सवाल खड़े हो गए है. गुना जिला अस्पताल में अशोकनगर निवासी महिला पति का इलाज कराने पहुंची थी लेकिन उसको उपचार की सुविधा नहीं मिली. ढाई साल के बच्चे के साथ बीमार पति को महिला 12 घंटे तक तड़पते देखती रही. मदद के लिए लोगों से गुहार लगाती रही. लेकिन उसकी मदद करने कोई आगे नहीं आया. अंत में उसके पति की जान चली गई. दूसरी तरफ अस्पताल प्रबंधन का तर्क है कि मृतक की पत्नी पर्चा बनवाने के लिए काउंटर पर नहीं आई.

यह है पूरा मामला-

जानकारी के मुताबिक अशोकनगर शंकर कॉलोनी निवासी आरती रजक अपने पति सुनील धाकड़ को लेकर बुधवार शाम 6 बजे जिला अस्पताल पहुंची थी. महिला ने बताया कि उसके पास पैसे नहीं थे. पति को जिला अस्पताल लेकर आई. सामने लगे एक पेड़ के नीचे लिटा दिया. साथ ढाई साल का बच्चा भी था. काउंटर पर पहुंची तो वहां बैठे युवक ने कहा पर्चा बनेगा, इसके लिए पैसे लगेंगे, तो वह बैठ गई. महिला ने बताया कि वह गुरुवार सुबह फिर काउंटर पर पहुंची तो फिर से पर्चा नहीं बनाया गया. उसे यह कहकर चलता कर दिया कि बाहर वाला काउंटर खुलेगा तब पर्चा बनेगा.

Leave a Comment