जब इस्तीफा दे ही दिया तो फिर विधायक क्यों बनना- पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह

मध्यप्रदेश में उपचुनाव का समय जैसे-जैसे नजदीक आता जा रहा है वैसे-वैसे प्रदेश का राजनीतिक माहौल बदलता जा रहा है। प्रदेश की 27 सीटों पर होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के पहले दोनों पार्टियों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इसी बीच पूर्व मंत्री व कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने बागी विधायकों पर करारा तंज कसा है। कांग्रेस नेता ने पूछा है कि जब इस्तीफा दे ही दिया है तो फिर विधायक क्यों बनना है?

जयवर्धन ने गुरुवार (10 सितंबर) को ट्वीट कर कहा, ‘विधायक ही बनना था तो विधायक पद से इस्तीफा क्यों दिया? इस्तीफा दे ही दिया है तो फिर विधायक क्यों बनना? यही सब चलता रहा तो फिर जनता के वोट का मतलब क्या है, नोट लीजिये और पाला बदल लीजिये। कल तक जो बेईमान था आज वह आपके लिये राजा हरिश्चन्द्र है। सही है पैसा बोलता है।’

सके पहके बुधवार को भी उन्होंने बागी विधायक नारायण पटेल को निशाने पर लिया था। दरअसल, पटेल जब चुनाव प्रचार में पामाखेड़ी गए थे तब वहां की महिलाओं ने उन्हें घेर लिया और जमकर विरोध किया। इसी का वीडियो शेयर कर जयवर्धन ने चुटकी लेते हुए कहा, ‘क्या नेता, क्या अभिनेता, दे जनता को जो धोखा पल में शोहरत उड़ जाये, ज्यों एक पवन का झोंका। ऐ बाबू ये पब्लिक है पब्लिक। ये जो पब्लिक है सब जानती है। पब्लिक है।’

बता दें कि कांग्रेस के युवा नेता जयवर्धन सिंह उपचुनाव को लेकर काफी सक्रिय हैं। चाहे क्षेत्र में जाकर जनता के बीच पार्टी का बात रखना हो या सोशल मीडिया के माध्यम से बीजेपी को निशाने पर लेना हो वह एक मौका नहीं चूकते हैं। 

Banner ad

Leave a Comment