केंद्रीय मंत्री तोमर का करीबी नेता पहुंचा कमलनाथ के बंगले पर

-आधा घंटा तक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाथ और भाजपा नेता विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (साडा) के पूर्व अध्यक्ष जयसिंह कुशवाह के बीच हुई बंद कमरे में बातचीत

भोपाल. विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस और भाजपा दोनों प्रमुख दलों में सरगर्मी तेज हो गई है. अपने-अपने राजनीतिक साख को बचाने के लिए दोनों ही पार्टी के नेता जुगाड़ में लग गए हैं.
विधानसभा उपचुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस दोनों में चल रही खींचतान के बीच केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के करीबी भाजपा नेता और विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (साडा) के पूर्व अध्यक्ष जयसिंह कुशवाह ने गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से भोपाल पहुंचकर मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच आधे घंटे तक बंद कमरे में चर्चा हुई. इस मुलाकात के साथ ही भाजपा और कांग्रेस में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया.

उल्लेखनीय है कि कुशवाह लंबे समय से ग्वालियर पूर्व विधानसभा के टिकट की दावेदारी कर रहे हैं. पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल के भाजपा में आने के बाद एक बार फिर से उनकी दावेदारी खत्म हो गई है. ऐसे में कमलनाथ से उनकी मुलाकात को दावेदारी से जोड़कर देखा जा रहा. कुशवाह ने मुलाकात की बात स्वीकार की है, लेकिन दावेदारी के मामले को नकार दिया है.
उन्होंने बताया कि दोनों के बीच अंचल के राजनीतिक समीकरणों को लेकर विस्तार से चर्चा हुई है. पार्टी जानकारों की माने तो कुशवाह भाजपा में लगातार हो रही अनदेखी से दुखी हैं और कांग्रेस से ऑफर मिलने पर दावेदारी कर सकते हैं.

वे लंबे समय से पूर्व मुख्यमंत्री के संपर्क में थे. दो दिन पहले मुलाकात तय हुई और गुरुवार सुबह वे भोपाल स्थित बंगले पर पहुंच गए। पार्टी का जिलाध्यक्ष बनाए जाने पर कमल माखीजानी के खिलाफ विरोध का झंडा उठाने वाले कुशवाह ने सार्ल 2008 में पूर्व विधानसभा से दावा किया था, लेकिन उस समय भाजपा नेतृत्व ने अनूप मिश्रा को प्रत्याशी बनाया था। इससे नाराज कुशवाह ने यह कहते हुए विरोध किया था कि प्रत्याशी स्थानीय होना चाहिए.

Leave a Comment