शिवराज सरकार से दुखी भृत्य ने मांगी इच्छा मृत्यु

-संविलियन नहीं होने से परेशान चल रहा है भृत्य

भोपाल. शासकीय विभाग में संविलियन नहीं होने पर एक स्कूल शिक्षा विभाग जबलपुर में पदस्थ एक भृत्य ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और लोकशिक्षण आयुक्त को पत्र भेजकर इच्छा मृत्यु की माँग की है. भृत्य का नाम कमलेश कोरी है. भृत्य कोरी द्वारा भेजे गए पत्र में कहा गया कि वह अनुदान प्राप्त केशरवानी उमावि में कार्यरत था, लेकिन वर्ष 2011 में स्कूल बंद हो गया. इसके बाद न्यायालय ने शासकीय विभाग में संविलियन करने का आदेश दिया, लेकिन अभी तक उसका संविलियन नहीं किया गया है. इसकी वजह से भृत्य ने इच्छा मृत्यु की माँग की है।

3 माह से अध्यापकों को नहीं मिला वेतन

सरकारी स्कूलों में कार्यरत अध्यापकों को तीन महीने से वेतन नहीं मिला है. यह स्थिति वेतन के लिए बजट आवंटन नहीं होने की वजह से बनी है. इससे अध्यापकों की आर्थिक स्थिति खराब होती जा रही है.

Leave a Comment