उज्जैन पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

बीते मंगलवार पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ उज्जैन मंदिर में थे। उन्होंने यहाँ पूजा अर्चना कर प्रदेश एवं उसकी जनता की सुख-शांति कि कामना की। कोरोना वायरस की गाइड लाइन के चलते उन्होंने गर्भगृह के बाहर से ही दर्शन किये। महाकाल के दर्शन के बाद उन्होंने मीडिया को सम्बोधित किया। जिसमें उन्होंने कहा- मैं यहाँ सभी की सुख एवं शांति की कामना हेतु आया था। महाकाल से मैंने मध्यप्रदेश के किसानों, नौजवानों और इनकी समृद्धि हेतु प्रार्थना की है।
उन्होंने आगे कहा जनता अच्छी तरह से जानती है कि प्रदेश के साथ कितना बड़ा धोखा हुआ है, सौदेबाजी हुई है। जनता जानती है प्रदेश किस पटरी पर आगे बढ़ रहा था। मध्यप्रदेश को किस तरह से नई दिशा में लाया गया था। मुझे पूरा विश्वाश है, प्रदेश की जनता का सहयोग हमें पुनः प्राप्त होगा।

कोरोना वायरस की गाइड लाइन के चलते उन्होंने गर्भगृह के बाहर से ही दर्शन किये।

उन्होंने आने वाले उप चुनाव के बारे में बात करते हुए कहा कि यह फैसला जनता करेगी और हमें पूरी की पूरी सीटें मिलेंगी। उन्होंने बात आगे बढ़ाते हुए यह भी कहा कि भाजपा के पिछले पंद्रह सालों के कार्यकाल का पर्दाफाश हुआ है।

मीडिया को सम्बोधन

अपने आप को को टाइगर बताने वाले भाजपा के बयान पर कसा तंज :

अपने आप को टाइगर बताने वाले भाजपा के बयान पर भी नाथ ने तंज कसते हुए कहा, जब उनके पास कहने के लिए कुछ नहीं रहता तो इस तरह की बयानबाजी से वो कभी टाइगर बन जाते हैं तो कभी कुछ और जिससे असली बात जनता तक नहीं पहुँच पाती। वो अपने आप को टाइगर कह कर जनता को गुमराह करते हैं। जनता यह बहुत अच्छे से जानती है कि कौन आदमी है, कौन बिल्ली, चूहा और टाइगर कौन है।

उज्जैन के बाद बदनवार पहुंचे कमलनाथ :

सरकार गिरने के बाद पहली बार पूर्व सीएम कमलनाथ बदनावर में जनता के बीच पहुंचे। यहां भाजपा द्वारा सरकार बनाने के तरीके और भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस के विधायकों पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि जो विधायक हमारे नहीं हो पाए वो आपके क्या होंगे। जिस प्रकार 22 विधायक खरीदकर आप ने भाजपा ने सरकार बनाई है वह लोकतंत्र की हत्या है।

Leave a Comment