गृहमंत्री बोले-सरकार जितना कर सकती थी की अब जनता तय करे

-अस्पताल जाना है या घर पर ही सुरक्षित रहना है, लॉकडाउन से भी नहीं रुकेगा संक्रमण

भोपाल. प्रदेश में कोरोना पूरी तरह से बेकाबू हो गया है. महामारी पर काबू पाने में सरकार पूरी तरह से फेल हो गई है. इसलिए सरकार ने अब सारा दारोमदार जनता पर डाल दिया है. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सरकार ने अपने सारे प्रयास कर लिए हैं. लंबे समय तक लॉकडाउन नहीं रख सकते. इससे आर्थिक और आम आदमी की जिंदगी पर असर पड़ रहा है. इसलिए इसे खोला गया है. अब जनता के हाथ में है, वो किसी भी तरह इस संक्रमण से अपना बचाव करे.
यह बात गृह मंत्री ने निवास के बाहर मीडिया से चर्चा में कहीं है.उन्होंने कहा-सरकार ने अस्पताल, इलाज, वेंटीलेटर, दवाएं और अन्य सुविधाएं फ्री कर दी हैं लेकिन हम चाहते हैं कि लोगों को इसकी जरूरत ही नहीं पड़े. सावधानी ही इस बीमारी से बचा सकती है. इसलिए लोग अपने आपके लिए हर वो तरीका अपनाएं जिससे वे सुरक्षित रह सकें. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का स्वास्थ्य पूरी तरह से ठीक है. उनकी तीसरी रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है. इसलिए वे निगेटिव रिपोर्ट आने तक अस्पताल में ही रहेंगे. मुख्यमंत्री आज अपराह्न 4 बजे कैबिनेट की वर्चुअल बैठक भी अस्पताल से ही करेंगे.
गृह मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन से संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आई है. पहले जहां कई जिलों में ये संख्या 200 के पार जा रही थी, वहीं अब 100 तक पहुंच गई है. लॉकडाउन से भिंड मुरैना जैसे जिलों में मरीजों की संख्या में काफी कमी आई है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन कोरोना संक्रमण रोकने का स्थाई हल नहीं है. इसे फैलने से रोकने के लिए जनता को खुद पहल करते हुए सावधानी रखनी पड़ेगी. इस मामले में सरकार जितना कर सकती थी कर चुकी है. अब जनता की बारी है.

Leave a Comment