परिजन जोड़ते रहे हाथ, डॉक्टर ने दी पुलिस बुलाने की धमकी

प्रसव के बाद बच्चे की हो गई मौत, 3 घंटे तक डॉक्टर बोलते रहे परिजनों से झूठ

-प्रसूता के साथ आए परिजनों ने डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप, देखने तक नहीं पहुंचा कोई स्टाफ

दतिया. स्वास्थ्य विभाग की एक और बड़ी लापरवाही सामने आई है.
मामला जिला अस्पताल दतिया है. जहां पर एक प्रसूता से नवजात को जन्म दिया. इस बीच उसके बच्चे की मौत हो गई और उसे अस्पताल का कोई स्टाफ देखने तक नहीं पहुंचा. बल्कि डॉक्टर व स्टाफ ने उसे पुलिस बुलाने की धमकी दी.
हरदौल मोहल्ला निवासी पवन कुशवाहा ने बताया कि उसकी पत्नी सोनिया कुशवाहा को रात 12 बजे प्रसव पीड़ा हुई तो वह पड़ोस के ऑटो में बैठाकर सोनिया को अस्पताल ले गया और भर्ती करा दिया लेकिन डॉक्टर और स्टाफ सोनिया को देखने तक नहीं आया. दर्द से तड़पती पत्नी को देखकर वह खुद और उसकी मां बार-बार डॉक्टर और नर्सों के सामने हाथ जोड़ते रहे कि सोनिया को देख लो लेकिन स्टाफ यही कहता रहा कि पहले डिलेवरी हो जाने दो फिर देखेंग.े

गंदा पानी चला गया नवजात के भीतर
परिजनों ने बताया कि सुबह 4 बजे प्रसव हुआ तो गंदा पानी बच्चे के अंदर चला गया. उसकी सांसें थम गईं. परिजनों ने जब डॉक्टरों से कहा तो पुलिस बुलाने की धमकी दी. यही नहीं बच्चे की सांसें थमने पर भी नर्स ने पवन से कहा कि बच्चे को कांच (आईसीयू) में रख आओ. जब वहां लेकर पहुंचा तो वहां मौजूद डॉक्टर ने कहा कि उसकी धड़कन बंद है हम प्रयास कर रहे हैं.

डॉक्टर ने 7 बजे तक प्रयास किया, इसके बाद झांसी रैफर कर दिया.पवन बच्चे को झांसी में प्राइवेट अस्पताल में लेकर पहुंचा तो वहां दोनों प्राइवेट जगहों पर डॉक्टरों ने कहा कि बच्चा तो जन्म के तत्काल बाद ही मर गया था. पवन वापस लौटकर आया और पुलिस में शिकायत की।

Leave a Comment