गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाने जाने पर संसद में छिड़ा संग्राम, कांग्रेस-BJP आमने-सामने

संसद के शीतकालीन सत्र में पहले ही दिन से गांधी परिवार से SPG सुरक्षा वापस लेने का मुद्दा छाया हुआ है. लोकसभा में पहले ही दिन से कांग्रेस की ओर से इस मसले को जोरदार तरीके से उठाया जा रहा है. कांग्रेस सांसदों का आरोप है कि सरकार बदले की भावना से काम कर रही है. वहीं सरकार की ओर से यह कहा गया है कि इसमें कुछ भी राजनीतिक नहीं है. सूत्रों की मानें तो इस पूरे मसले पर गृह मंत्री अमित शाह आज सदन में बयान दे सकते हैं.

संसद के शीतकालीन सत्र में पहले दिन कांग्रेसी सांसदों ने इस मसले को लोकसभा में उठाया था और गृह मंत्री से जवाब मांगा था. लोकसभा में दूसरे दिन भी कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने एक बार फिर गांधी परिवार की सुरक्षा का मसला उठाया. मंगलवार को जब सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो कांग्रेस सांसद ने कहा कि केंद्र सरकार ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी की SPG सुरक्षा क्यों वापस ली इसपर जवाब देना चाहिए. इस दौरान अधीर रंजन ने वाजपेयी सरकार का भी हवाला दिया.

लोकसभा में अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी सामान्य लोग नहीं हैं, जिन्हें सुरक्षा मिली हुई है. अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने भी SPG को गांधी परिवार की सुरक्षा में रहने दिया था, 1991 से 2019 तक NDA दो बार सत्ता में आई है लेकिन कभी भी SPG सुरक्षा को हटाया नहीं गया है. सरकार के इस कदम का विरोध करते हुए कांग्रेसी सांसदों ने लोकसभा से वॉक आउट कर दिया.

आनंद शर्मा ने राज्यसभा में उठाया मुद्दा

शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन बुधवार को राज्यसभा में इसी मुद्दे को आनंद शर्मा ने उठाया. आनंद शर्मा ने कहा कि हमारी सरकार से गुजारिश है कि हमारे नेताओं की सुरक्षा राजनीति से अलग रखें. सुब्रमण्यम स्वामी ने आनंद शर्मा को जवाब देते हुए कहा कि गृह मंत्रालय लगातार खतरे का आकलन करता है. यह उसी आधार पर हुआ. यूपीए सरकार के समय भी कई नेताओं की सुरक्षा कम की गई थी.

वहीं इस मामले पर बोलते हुए जे पी नड्डा कहा कि इसमें कुछ भी राजनीतिक नहीं है. सुरक्षा हटाई नहीं गई है. गृह मंत्रालय के पास एक नियमावली है और प्रोटोकॉल है. यह किसी राजनेता द्वारा नहीं बल्कि गृह मंत्रालय द्वारा किया गया है.

गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने पर बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा ने तीखा प्रहार करते हुए कहा कि गांधी परिवार एसपीजी सुरक्षा जलवे बिखेरने के लिए लेती है. उनको देश की सुरक्षा की कोई चिंता नहीं है साथ ही उन्होंने कहा कि एसपीजी के जरिए वह लोग दिखावा करते हैं विदेशों में जब जाते हैं तो एसपीजी क्यों इस्तेमाल नहीं करते. ऐसे सवाल उठाते हुए जीवीएल नरसिम्हा ने जेड प्लस सिक्योरिटी कवर को पर्याप्त सिक्योरिटी कवर बताया है.

गांधी परिवार को दी गई स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) की सुरक्षा इसी महीने वापस ले ली गई थी और उन्हें केंद्रीय रिजर्व सुरक्षा बल (सीआरपीएफ) की जेड प्लस सुरक्षा दे दी गई थी.एसपीजी सुरक्षा सोनिया, उनके बेटे राहुल और बेटी प्रियंका के नई दिल्ली स्थित आवासों से हटा ली गई है. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 21 मई, 1991 को हुई हत्या के बाद गांधी परिवार को एसपीजी सुरक्षा प्रदान की गई थी.

Leave a Comment