दलित परिवार पर शिवराज सरकार के अफसरों ने दर्ज किया मुकदमा

गुना में जहर खाने वाले दंपती की हालत गंभीर

भोेपाल. प्रदेश की भाजपा सरकार में अफसरों की एक और करतूत सामने आई है. जिदंगी और मौत के बीच अस्पताल में जंग लड़ रहे दंपती पर ही अफसरों ने मुकदमा दर्ज कर दिया है.

बतादें कि बीते दिन गुना जनकपुर चक स्थित साइंस कॉलेज की जमीन पर कब्जा हटाने गए थे. इस पर किसान ने अफसरों से जमीन खाली करने की मोहलत मांगी थी. उसने अफसरों से कहा था कि दो लाख रुपये कर्ज लेकर खेती की है. पेट पालने के लिए इसके अलावा उसके पास कोई चारा नहीं है लेकिन अफसरों ने किसान की फरियाद नहीं सुनी. किसान पर पुलिस व प्रशासनिक अफसरों ने लाठियां बरसाई थी. लाते मारे. जिससे किसान दंपती ने जहर खा लिया था. इसके बाद अफसरों ने दंपती को जिला अस्पताल गुना में भर्ती कराया है. जिस वजह से उसकी हालत गंभीर बनी हुई है.

बड़ा सवाल कमलनाथ सरकार ने भूमाफिया के कब्जे से मुक्त कराई थी जमीन फिर कैसे हो गया कब्जा

प्रदेष में कमलनाथ सरकार ने भू माफिया के खिलाफ अभियान चलाया था. अभियान के तहत पप्पू पारदी के कब्जे से जमीन खाली कराई थी. अभियान का प्रदेश की भाजपा सरकार ने जमकर विरोध किया था. कांग्रेस की सरकार भी गिरा थी. दूसरी तरफ जमीन पर फिर से पप्पू पारदी का कब्जा हो गया था. जिससे बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है कि एक बार कब्जा हटाने के बाद फिर से कब्जा कैसे हो गया.

Leave a Comment