पुलवामा का बदला : विमान Mirage 2000 ने पाकिस्तान में मचाई तबाही, आतंकवादी ढांचों पर आज तडके भारी बमबारी

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के ठीक 12 दिन बाद भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने सीमा पार कर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में स्थित आतंकवादी ढांचों पर आज तडके भारी बमबारी की जिसमें कई आतंकवादी कैंप पूरी तरह नेस्तनाबूद हो गए। सूत्रों के अनुसार वायु सेना के 10 से 12 मिराज लड़ाकू विमानों ने तड़के साढ़े तीन बजे मुजफ्फराबाद, बालाकोट और चकोटी जैसे क्षेत्रों में भारी बमबारी की जिसमें पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने वाले आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कई कैंप पूरी तरह जमींदोज हो गए। मिराज 2000 विमानों ने सोमवार रात्रि और मंगलवार तड़के बड़ी कार्रवाई की है। आइए आपको बताते हैं मिराज 2000 लड़ाकू विमान की खास बातें।

2000 फाइटर जेट को 1980 के दशक में फ्रांस से खरीदा गया था। भारतीय सेना के पास मौजूद मिराज-2000 विमान एक सीट वाला फाइटर जेट है। इसका निर्माण ‘डसॉल्ट मिराज एविशन’ ने किया है।मिराज एक फ्रेंच बहुउपयोगी फोर्थ जेनरेशन का सिंगल इंजन लड़ाकू विमान है। यह एक घंटे में 2495 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है।भारतीय वायु सेना के पास 50 ‘मिराज-2000′ हैं. इस हमले में एयरफोर्स ने 12 विमानों का इस्तेमाल किया है। मिराज 2000 के कुल 6 वैरिएंट हैं, जिनमें मिराज 2000सी, मिराज 2000बी, मिराज 2000एन, मिराज 2000डी, मिराज 2000-5ए, मिराज 2000ई शामिल हैं। यह विमान जमीन पर भारी बमबारी करने के साथ ही हवा में मौजूद दूसरे प्लेन्स को भी निशाना बनाने में सक्षम है। 21 मई, 2015 को मिराज-2000 दिल्ली के पास यमुना एक्सप्रेस वे पर लैंड कराया गया था. मिराज-2000’ एक बार में 17 हजार किलोग्राम भार ले जाने में सक्षम है। दुनिया के सबसे अच्छे लड़ाकू विमानों की लिस्ट में ‘मिराज-2000’ दसवें नंबर पर है. इसकी पहली उड़ान 10 मार्च 1978 को हुई थी।

Leave a Comment