हरियाणा चुनाव: राहुल गांधी जी बोले- मैं ‘काम की बात’ करूंगा, ‘मन की बात’ नहीं

कांग्रेस के स्टार प्रचारक राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ पर निशाना साधते हुए कहा कि वह ‘काम की बात’ करेंगे. हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव में अपनी पहली सार्वजनिक सभा के दौरान गांधी ने सत्तारूढ़ सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा, “मोदी जी झूठे दावे करते रहते हैं. यही खट्टर जी भी करते हैं. वह मन की बात करते हैं. मैंने सोचा मैं काम की बात करूंगा और आज जो कुछ भी मैं इस मंच से कहूंगा, वह किया जाएगा. कांग्रेस शासित राज्यों राजस्थान और मध्य प्रदेश से इस बारे में पूछ सकते हैं.” नूंह के मुस्लिम बहुल मरोरा में उन्होंने कहा कि बीजेपी झूठे वादे कर रही है.

राहुल ने कहा कि ”हम भ्रष्टाचार से लड़ेंगे, दो करोड़ युवाओं को रोजगार मिलेगा और किसानों को लाभकारी दाम मिलेगा.” गांधी ने कहा कि ”प्रधानमंत्री कुछ चुनिंदा व्यापारिक समूहों की जेब में पैसे डाल रहे हैं और अपने चुनिंदा 15-20 कॉरपोरेट्स को 5.5 लाख करोड़ रुपये दे चुके हैं.” राहुल गांधी ने कहा कि ”अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए सरकार को आम आदमी की जेब में पैसे वापस डालने चाहिए.” उन्होंने अर्थव्यवस्था में तेजी के बारे में बात करते हुए पार्टी की अगुवाई वाली यूपीए सरकार द्वारा शुरू की गई योजना, मनरेगा की सराहना की. उन्होंने कहा, “अर्थव्यवस्था गड़बड़ाई हुई है और मोदी चांद की बात कर रहे हैं.” उन्होंने भगवा पार्टी से पूछा कि मारुति ने अपना कारखाना क्यों बंद किया और टाटा ने यहां अपनी इकाइयों को क्यों बंद किया?

गांधी ने कहा, “हम जो भी कहते हैं, वह करते हैं. मैं यहां झूठे वादे करने के लिए नहीं आया हूं. यह काम की बात है. कांग्रेस पार्टी सभी की पार्टी है और हम लोगों को एकजुट करने में विश्वास रखते हैं.” गांधी ने बांटने की राजनीति के मुद्दे पर तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी वही कर रही है, जो अंग्रेज भारत में करते थे. राहुल गांधी ने हरियाणा के सबसे पिछड़े क्षेत्रों में से एक नूंह के लोगों के लिए मेवात नहर व विश्वविद्यालय स्थापित करने के साथ ही रोजगार का वादा किया. नूंह मेवात क्षेत्र का जिला मुख्यालय है और गुरुग्राम संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आता है.

किसानों को कर्जमाफी और महिलाओं को नौकरी में आरक्षण देने के वादे के साथ कांग्रेस ने अपने घोषणा-पत्र में सरकारी क्षेत्र की नौकरियों में महिलाओं के लिए 33 फीसदी आरक्षण देने की बात कही. इसके साथ ही पार्टी ने सत्ता में आने के 24 घंटों के अंदर शिक्षित बेरोजगार युवाओं को नकद प्रोत्साहन व कृषि ऋण माफी का वादा भी किया है. बीजेपी शासित हरियाणा में 21 अक्टूबर को 90 सदस्यीय विधानसभा के लिए मतदान होंगे.

Leave a Comment