राफेल पर राहुल गांधी के तेवर से BJP हुई चित, रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण से मांगा इस्तीफा

नई दिल्ली। वक्त के साथ साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के तेवर भी बड़ते जा रहे है जिससे अब भाजपा भी घबराने लगी है। राफेल घोटाले पर राहुल गांधी ने मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रखा है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को मांग की कि रक्षामंत्री अपने उस दावे को साबित करने के लिए संसद में दस्तावेज प्रस्तुत करें, जिसमें उन्होंने कहा था कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को एक लाख करोड़ रुपये के ठेके दिए गए हैं, अन्यथा पद से इस्तीफा दें।

सीतारमण द्वारा शुक्रवार को लोकसभा में किए गए दावे के दो दिन बाद, राहुल गांधी ने ट्विटर पर उनके दावों पर सवाल उठाया है। उन्होंने साथ में एक मीडिया रपट भी नत्थी की है, जिसमें कहा गया है कि ‘कोई ठेका नहीं दिया गया है’। राहुल गांधी ने ट्वीट में कहा है, “जब आप एक झूठ बोलते हैं तो उस झूठ को छिपाने के लिए आपको कई और भी झूठ बोलने पड़ते हैं। राफेल पर प्रधानमंत्री के झूठ का बचाव करने की उत्सुकता में रक्षामंत्री ने संसद से झूठ बोला।”

उन्होंने कहा, “रक्षामंत्री (सीतारमण) को कल संसद में वे दस्तावेज हरहाल में पेश करने होंगे, जिससे साबित हो कि सरकार ने एचएएल को एक लाख करोड़ रुपये के ठेके दिए हैं। अन्यथा वह इस्तीफा दें।” राहुल गांधी ने इससे पहले सीतारमण की उन दलीलों को खारिज कर दिया था, जिसमें उन्होंने फ्रांस से 36 लड़ाकू विमानों की खरीदी के सौदे का बचाव किया था। उन्होंने संसद में इस मुद्दे पर बहस के दौरान विवादास्पद सौदे से संबंधित अपने सवालों के जवाब न देने का आरोप भी सीतारमण पर लगाया था।

Leave a Comment