पाकिस्तान ने फिर बोला झूठ, विदेश मंत्री बोले – पुलवामा हमले में नहीं है मसूद अजहर का हाथ

नई दिल्ली। भारत-पाकिस्तान के बीच सीमा पर तनाव की खबरों को लेकर पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि दोनों देशों के बीच अमन और शांति तभी कायम हो सकता है जब मिलकर एक मंच पर बात करें। बीबीसी के साथ बातचीत में उन्होंने साफ किया कि दोनों देशों के बीच युद्ध से कोई हल नहीं निकलने वाला है।

बीबीसी के साथ बातचीत के दौरान विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि इस समय भारत और पाकिस्तान दोनों देश परमाणु हथियारों से लैश हैं ऐसे में युद्ध की कल्पना करना भी ठीक नहीं है। अगर फिर भी युद्ध होता है तो यह कदम दोनों देशों के लिए आत्मघाती साबित होगा। बातचीत के दौरान कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान शांति चाहता है, पाकिस्तान विकास के रास्ते पर चलना चाहता है। पकिस्तान के युवा देश के लिए कुछ करना चाहते हैं, पाकिस्तान के युवा नए एप्रोच के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं। पाकिस्तान अब युद्ध नहीं चाहता है। हम भारत के साथ सभी मुद्दों का स्थाई समाधान चाहते हैं. लेकिन, क्या मिसाइल छोड़ने से मुद्दों का समाधान हो जाएगा? नहीं, मिसाइल छोड़ देने से मुद्दों का समाधान कभी नहीं होगा।

पुलवामा में भारतीय जवानों पर हुए आत्मघाती हमलों को लेकर कुरैशी ने कहा कि इस बात को लेकर मैं कंफर्म नहीं हूं कि घटना में जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है। खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि जैश के बड़े कमांडरों ने इस घटना में हाथ होने से इंकार किया है, जैश ने इस घटना की जिम्मेदारी नहीं ली है।

Leave a Comment