कागजों में 21 दिन से खदाने बंद, हकीकत में नदी को कर रहे खोखला

-नदी से दिन रात जारी है रेत का उत्खनन, नदी तल से रेत उठा रहे माफिया

भोपाल.सेंवढ़ा. प्रदेश मेे नदियों से रेत के अवैध उत्खनन का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा. सांठगांठ के चलते रेत माफिया बेखौफ होकर खुले आम नदियों से रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन कर रहे.
बतादें कि एनजीटी द्वारा 30 जून से नदियों के रेत उत्खनन पर प्रतिबंधित लगा दिया था. इसके कारण रेत के ठेकेदारों ने सैकड़ों की संख्या में रेत के अवैध ढेर भी लगा लिए. ताकि आने वाले तीन माह तक रेत का कारोबार जारी रखा जा सके. पर बारिश कम होने का फायदा उठा कर रेत माफिया ने एक बार फिर नदी को खोखला करना प्रारंभ कर दिया है. इन दिनों सेंवढ़ा अनुभाग में एक दर्जन से अधिक स्थानों से खुले आम रेत का उत्खनन किया जा रहा है. कई जगह पर एक नहीं चार-चार मशीनें लगाकर रेत निकाली जा रही है. वहीं खनिज विभाग के अधिकारियों को इसकी कोई सुध नहीं है. इस संबंध में कांग्रेस के कार्यकारी ब्लाक अध्यक्ष राजू लठैत द्वारा अधिकारियों को मौखिक और लिखित शिकायतें की गईं पर बेनतीजा रहीं. रेत माफिया उन स्थानों से भी रेत उठा रहे हैं जो कि स्वीकृत खदान के रूप में आवंटित नहीं है. ग्रामीणों द्वारा विरोध करने पर उन्हें बताया जा रहा है कि पूरे जिले का ठेका है कहीं से भी रेत उठाई जा सकती है.

Leave a Comment