फिर सुर्खियों में मंदसौर, नपा अध्यक्ष का हत्यारा निकला BJP का कार्यकर्ता, शिवराज ने उठाए थे सरकार पर सवाल

भोपाल। मध्यप्रदेश का मंदसौर जिला हमेशा सुर्खियों में बना रहता है। किसान आंदोलन से चर्चित हुआ जिला मंदसौर अब मध्यप्रदेश सवेदनशील जिला बन गया है। कल रात नगर पालिका अध्यक्ष प्रह्लाद बंधवार की हत्या के बाद प्रदेश की राजनीति में मंदसौर एक बार फिर सुर्ख़ियों में आ गया है।

कल शाम 7 बजकर 10 मिनिट पर अज्ञात बाइक सवार ने मंदसौर नपा अध्यक्ष प्रह्लाद बंधवार को गोली मार दी। जिला सहकारी बैंक के सामने हमलावर ने करीब से बंधवार के सिर पर गोली चलाई, जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई। वारदात के बाद क्षेत्र में स्थिति तनावपूर्ण हो गई, बाजार बंद हो गए। लेकिन देर रात पुलिस ने बंधवार की हत्या मामले में बड़ा खुलासा कर दिया।

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने मामले में मनीष बैरागी नाम के एक युवक को नामजद आरोपी बनाया है। मनीष बैरागी को बीजेपी कार्यकर्ता बताया जा रहा है। साथ ही आरोपी मनीष बैरागी मृत बीजेपी नेता का करीबी भी बताया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि हत्या मनीष बैरागी नाम के व्यक्ति ने की है, जो प्रहलाद बंधवार का बहुत करीबी रहा है। पुलिस ने हालांकि यह नहीं कहा कि मनीष बैरागी भाजपा का कार्यकर्ता है।

आरोपी पर हत्या, हत्या के प्रयास, आर्म्स एक्ट, नारकोटिक्स के करीब आधा दर्जन अपराध पंजीबद्ध हैं। गुरुवार को वारदात को अंजाम देने के पहले बैरागी ने उसने सहकारी बैंक के सामने स्थित भाजपा नेता लोकेंद्र कुमावत दुकान पर बैठे हुए बधवार से जय श्रीराम कहा और उसके बाद दोनो में किसी विषय पर विवाद होने पर जेब से पिस्तौल निकालकर गोली मार दी। घटना के बाद आरोपी अपनी मोटर साईकिल वहीं छोड़कर भाग निकला था।

प्रह्लाद बंधवार मंदसौर का राजनीती के बड़े नेता थे क्षेत्र की जनता उन्हें दादा के नाम से पुकारती थी। इसी कारण बंधवार के अंतिम संस्कार में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह सहित कई बड़े नेता मंदसौर पहुचे । बंधवार की हत्या के बाद प्रदेश की सियासत हावी हो गई और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और प्रदेश भाजपा के कई नेताओं ने 1 महीने के कांग्रेसराज पर सवाल उठा दिए। लेकिन गृहमंत्री बाला बच्चन ने पुलिस अधिकारियों पर दबाव डालकर मामले को जल्द सुल्जाने की बात कही और थोड़ी देर बाद ही भाजपा का कार्यकर्ता ही भाजपा नेता बंधवार का हत्यारा निकल गया। जिससे भाजपा के चरों खाने चित हो गए।

हत्यारा बैरागी बीजेपी का सक्रिय कार्यकर्ता है। भाजपा के नेताओं के साथ आरोपी की कई तस्वीरे भी वायरल हो रही है अब ये देखना दिलचस्प होगा कि इस मामले में धरना देने जा रहे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का अगला कदम क्या होगा। क्योकि शिवराज सिंह चौहान ने पहले सीएम कमलनाथ को चिट्ठी लिखकर प्रदेश की कानून और सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाए थे। शिवराज ने इंदौर में हुए बिल्डर संदीप अग्रवाल की हत्या का भी जिक्र करते हुए मांग की है कि प्रह्लाद बंधवार की हत्या मामले की उच्च स्तरीय जांच की जाए। साथ ही संदीप अग्रवाल के हत्यारोपियों पर भी कड़ी कार्रवाई की जाए।

सीएम कमलनाथ ने भी बिना देर किए शिवराज सिंह के चिट्ठी का जवाब दे दिया है। सीएम कमलनाथ ने प्रदेश में हुई हत्या की दोनों घटनाओं पर दुख जताते हुए जल्द कार्रवाई का आश्वासन दिया है। सीएम ने लिखा है, ‘आप विश्वास रखिए आरोपी शीघ्र ही सलाखों के पीछे होंगे’। साथ ही कमलनाथ ने कहा कि पत्र के माध्यम से लगाये गये आरोपों से ऐसा लग रहा है कि आपका यह पत्र अपराधों के प्रति चिंता कम, राजनीति से प्रेरित ज़्यादा लग रहा है। आप चिंता मत करिये मेरी सरकार में हमेशा पुलिस का ही मनोबल ऊंचा रहेगा। मेरी सरकार कभी भी गुंडों-अपराधियों का मनोबल ऊंचा नहीं होने देगी और ना ही उनके हौसले बुलंद होने देगी। यह ज़रूर सच है कि पिछले कई वर्षों से उनके मनोबल व हौसलों में जो वृद्धि हुई है, उसे मेरी सरकार जड़ से ख़त्म कर करके रहेगी।”

Leave a Comment