महाराष्ट्र LIVE : महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन, यह हैं 5 प्रमुख आधार

नई दिल्ली: महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन के लिए राज्‍यपाल की सिफारिश को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है. इसे मंजूरी के लिए राष्‍ट्रपति के पास भेजा गया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जल्द ही इस सिफारिश को मंजूरी दे दी और महाराष्ट्र में आखिरकार राष्ट्रपति शासन लागू हो गया. हालांकि राज्‍यपाल की राष्ट्रपति शासन की सिफारिश के खिलाफ शिवसेना सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गई है. सूत्रों के अनुसार महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने के पीछे मुख्य रूप से पांच आधार हैं. महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक गतिरोध के दौरान पांच प्रमुख तथ्यों को आधार बनाकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश केंद्र को भेजी थी.

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश के पीछे पांच आधार-
1.
महाराष्ट्र में राजनीतिक गतिरोध बरकरार
2. दावे के बावजूद शिवसेना समर्थन के पत्र नहीं दे सकी‬ तथा और अधिक समय मांगा.
3. नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने भी और समय मांगा‬.
4. विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोप लगने लगे.
5.  कांग्रेस ऊहापोह की स्थिति में बनी रही.

सूत्रों के अनुसार उक्त तथ्यों के आधार पर राज्यपाल ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राष्ट्रपति शासन लगाने के लिए सिफारिश की थी. इसको केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दे दी. बाद में राष्ट्रपति ने भी हरी झंडी दे दी और महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लग गया.



Leave a Comment