मध्यप्रदेश : बड़वानी जिले में भाजपा नेता की हत्या, फिर उठाए शिवराज सिंह चौहान ने सरकार पर सवाल

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के वरला थाना क्षेत्र के बलवाड़ी कस्बे में भारतीय जनता पार्टी के मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे की रविवार सुबह हत्या कर दी गई। वरला थाना प्रभारी दिनेश कुशवाह के अनुसार ठाकरे सुबह की सैर पर गए थे। कुछ देर बाद उनका शव खेत के पास मिला।

हत्या किसने और क्यों की, यह सब पता लगाया जा रहा है।इस मामले में एसीपी ने कहा, मनोज ठाकरे अपनी रेग्युलर मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे। उन्हें घटनास्थल से खून से सना हुआ एक पत्थर मिला है और आशंका हैं कि उन्हें उसी पत्थर से मारा गया था। मामले की जांच की जा रही है।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कांग्रेस बदलाव की बात करती थी, लेकिन यह बदलाव क्या है? यहां हत्याएं शुरू हो गई हैं, एक हत्या इंदौर में और फिर मंदसौर में एक बीजेपी नेता की हत्या कर दी गई। बड़वानी में एक अन्य भाजपा नेता की हत्या कर दी गई थी। अपराधी आज निर्भीक हैं। कानून और व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई।

उन्होंने कहा कि सरकार इसे हल्के में ले रही है। इसके पीछे बड़ी साजिश लगती है (मंदसौर में भाजपा नेता की हत्या)। मैं सीबीआई जांच की मांग करता हूं। बड़वानी में बीजेपी नेता की हत्या कर दी गई, मैंने सरकार को चेतावनी दी है कि वह ऐसी घटनाओं को रोकें अन्यथा बीजेपी सड़कों पर उतरेगी। कुशवाह ने कहा कि 48 वर्षीय मनोज ठाकरे हत्या उस समय की गई, जब वह मॉर्निंग वॉक पर गए थे। सुबह सवा पांच बजे ठाकरे प्रतिदिन की तरह अकेले मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे और बलवाड़ी से एक किलोमीटर दूर उनकी लाश सड़क से 25 फ़ीट दूर एक खेत में मिली। उनका मफलर और ऊनी टोपा सड़क पर मिला, जबकि उनका रक्तरंजित शव सड़क से करीब 25 फीट दूर मिला। संभवत: उन्हें सड़क से खेत तक तक घसीटने के उपरांत हत्या की गई। एक रक्तरंजित पत्थर भी घटनास्थल के समीप मिला है।

कुशवाहा ने बताया कि ठाकरे को सिर में चोट हैं और विधि विज्ञान विशेषज्ञ (एफएसएल) की टीम के परीक्षण से पता चल सकेगा कि हत्या किस चीज से की गई है। ठाकरे तीसरी बार बीजेपी मंडल अध्यक्ष बने थे और उनके परिवार में पत्नी, एक पुत्र तथा दो पुत्रियां हैं। मध्यप्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री तथा सेंधवा के पूर्व भाजपा विधायक अंतर सिंह आर्य के मुताबिक, उन्हें संदेह है कि यह राजनीतिक द्वेष के चलते की गई हत्या है। उन्होंने आरोप लगाया कि पूरे प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति चरमरा गई है और भय का वातावरण है। आर्य ने फोन पर कहा कि वे फिलहाल भोपाल में है और घटना की सूचना मिलते ही बलवाड़ी के लिए रवाना हो गए हैं। ठाकरे, आर्य के करीबी माने जाते हैं।

Leave a Comment