डंडा लेकर गरीबों को पीट रहे हो,अन्याय के खिलाफ कांग्रेस लामबंद होगी

-शासन-प्रशासन गरीबों और आमजनता के साथ कर रहा है अन्याय, जिसका ठेला पलटाया गया, उसके पास रहने के लिए घर नहीं, वह श्मशान मे सोता है
-कांग्रेस पार्टी कोरोना की इस लड़ाई में सरकार के साथ है, लेकिन गरीबों के इस प्रकार के अन्याय को बर्दास्त नहीं करेगी

भोपाल. इंदौर. पिपलियहाना चौराहे पर ठेला पलटने की घटना के बाद से शहर की राजनीतिक गरमा गई है. शुक्रवार सुबह पूर्व मंत्री और विधायक जीतू पटवारी ठेले पर अंडे की दुकान लगाने वाले बच्चे से मुलाकात करने पहुुचे. पटवारी ने बच्चे पारस रायकवार से मिलकर हर संभव मदद का आश्वासन दिया. कांग्रेस शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने भी बच्चे की आर्थिक मदद की. पटवारी ने कहा कि शासन-प्रशासन के पास कोई मास्टर प्लान नहीं है और बस डंडे के दम पर कोरोना को भगाने की बात कर रहे हैं. प्रशासन बस डंडा लेकर गरीबों को पीट रहा है, इस अन्याय के खिलाफ कांग्रेस लामबंद होगी.
पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि विषय है बच्चे का.. ठेले का… और गरीब का… प्रशासन किसके लिए है. प्रशासन उस आम आदमी के लिए है, जिसके पास ताकत नहीं है. नगर निगम के कर्मचारी रोज रुपए लेकर ठेले वाले, रेहड़ी वाले और गरीबों को परेशान कर रहे. जबकि प्रशासन को इनकी सहायता, आर्थिक मदद करनी चाहिए, लेकिन वो नहीं कर रहे हैं, ऊपर से प्रताडि़त अलग कर रहे हैं. एक आदमी जिसके पास घर नहीं हैं, श्मशान में सोता है, ठेला लगाकर परिवार का पेट पालता है, ऐसे हजारों लोग हैं, उनके लिए क्या प्रोग्राम है.
उन्होंने कहा कि जो रोज कमाते हैं और रोज खाते हैं, क्या सरकार इन्हें आर्थिक मदद देगी. यदि वे ऐसा कर रहे हैं तो इनका काम बंद कर देना चाहिए. यदि लोगों को खाने की व्यवस्था नहीं दोगे और सख्ती से बंद करोगे तो यह अन्याय है. शहर में कई जगह पर बड़े-बड़े मैदान हैं. वहां पर इन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ठेले लगाने दें तो इनकी रोजी-रोटी चले. यदि आप राशन रोकोगे और लोगों को कहोगे कि कोरोना से बचो तो कैसे होगा. जितने गरीब हैं पार्टी सभी की मदद करेगी.

यह है पूरा मामलाः

पिपलियहाना चौराहे पर एक बच्चा अंडे का ठेला लगाकर परिवार के साथ रोजी-रोटी कमा रहा था. उसने बताया कि वह सुबह से ठेला लगाए हुए था. निगम की टीम गाड़ी लेकर आई और कहा कि यहां से ठेला हटा लें, नहीं तो जब्त कर लेंगे. 100 रुपए मांग रहे थे, नहीं देने पर वे भागे और ठेला पलटा गए. इससे मेरे सारे अंडे फूट गए.धंधा नहीं हो रहा है, ऊपर से इतना नुकसान कर दिया. बच्चा और परिजन निगमकर्मियों को कोसते रहे. मामला सामने आने के बाद दोनों की दलों ने नेताओं ने विरोध दर्ज करवाया.

Leave a Comment