पुलवामा आतंकी हमले में शहीद का 2 वर्षीय जब बेटा हाथ उठाकर बोला “जय” तब नम हो गईं सबकी आंखें

जयपुर। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद अवधेश कुमार यादव का पार्थिव शरीर शनिवार की सुबह लगभग सवा आठ बजे पैतृक आवास बहादुरपुर गांव पहुंचा। सीआरपीएफ की टुकड़ी तिरंगा में लिपटा पार्थिव शरीर लेकर पहुंचे। जवान बेटे का शव देखकर परिजनों का चित्कार मच गया। राजकीय सम्मान के साथ शहीद को गार्ड ऑफ ऑनर और श्रृद्धांजलि दी गई। गांव के ही गंगा किनारे शक्ति घाट पर पिता हरिकेश यादव ने मुखाग्नि दी।

मासूम बेटे ने भी लगाया जयकारे – शहीद अवधेश अमर रहे, भारत माता की जय, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे से समूचा वातावरण गुंजायमान होता रहा। ग्रामीणों के जयकारे के साथ ही शहीद का मासूम दो वर्षीय बेटा निखिल भी हाथ उठाकर जय-जय बोल रहा था। उसे देख कर ग्रामीणों की भी आंखें डबडबा गई।‌ बहादुरपुर गांव के किसान का बेटा सीआरपीएफ हेड कांस्टेबल 34 वर्षीय अवधेश कुमार यादव 14 फरवरी को पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हो गए थे। परिजनों को दूसरे दिन सुबह अवधेश कुमार यादव के शहीद होने की सूचना मिली। वहीं शनिवार की सुबह लगभग सवा आठ बजे शहीद का पार्थिव शरीर पहुंचा। हाथों में तिरंगा लेकर हुजूम उमड़ पड़ा।

सीआरपीएफ डीआईजी जे राजेंद्र और कमांडेंट राजीव चौधरी ने शव को कांधा दिया। इसके बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय, जिला प्रभारी मंत्री जयप्रकाश निषाद, पूर्व सपा सांसद रामकिशुन यादव, पूर्व भाजपा एमएलसी लक्ष्मण आचार्य, विधायक सुशील सिंह, डीएम नवनीत सिंह चहल, एसपी संतोष सिंह, पूर्व जिपं सदस्य शिवशंकर पटेल, जिपं सदस्य जयप्रकाश यादव, पहलवान नामवर सिंह आदि ने पुष्प गुच्छ अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

Leave a Comment