जीवन में सुख-शांति के लिए कैसे करें बुधवार का व्रत, जानिए व्रत विधि

पौराणिक मान्यता के अनुसार बुधवार के व्रत का आरंभ विशाखा नक्षत्रयुक्त बुधवार को करना चाहिए और इसके बाद लगातार सात बुधवार तक व्रत करना चाहिए। इस व्रत को अगर विधि-विधान से किया जाएं तो व्रती की सभी मनोकामनाएं माता लक्ष्मी पूर्ण करती हैं। व्रती के जीवन में सुख-शांति रहती है और घर धन-धान्य से भरे रहते हैं।

व्रत विधि

* शुक्ल पक्ष के पहले बुधवार से भी बुधवार का व्रत करना शुभ माना जाता है।

* प्रात:काल उठें व नित्यक्रियाओं से निपटने के पश्चात स्नानादि से स्वच्छ होकर भगवान बुध की पूजा करनी चाहिए।

* व्रती हरे रंग की माला या वस्त्रों का प्रयोग करे तो उत्तम रहता है।

* व्रत शुरू करने से पहले गणेश जी सहित नवग्रह पूजन करना भी जरूरी माना जाता है।

* यदि पूजा के लिए भगवान बुध की प्रतिमा न मिले तो भगवान शिव शंकर की प्रतिमा के निकट भी पूजा की जा सकती है।

* दिन भर के व्रत के पश्चात शाम को भी पूजा करनी चाहिए।

* व्रत के दौरान भागवत महापुराण का पाठ भी करवाया जा सकता है।

* इसके अलावा बुधवार के व्रत में हरे रंग के वस्त्र, फूल या सब्ज़ी आदि दान करने चाहिए।

* इस दिन एक समय दही, मूंग दाल का हलवा या फिर हरी वस्तु से बनी चीजों का सेवन करना चाहिए। केवल एक समय भोजन करना चाहिए।

Leave a Comment