भाजपा सरकार आते ही उपभोक्ताओं को मार रहा बिल का भारीभरकम करंट

मध्यमवर्गीय उपभोक्ताओं को बिजली बिल में राहत देने कमलनाथ सरकार द्वारा शुरू की गई इंदिरा गृह ज्योति योजना पड़ी अधर में

अकेले इंदौर शहर में एक माह में ढाई हजार से अधिक लोगों ने बिजली बिल अधिक आने की शिकायत, 100 रुपए की जगह 40 हजार रुपए तक भेजे जा रहे बिल

भोपाल. प्रदेश में कांग्रेस की सरकार को गिराकर सत्ता पर बैठी भाजपा सरकार में बिजली कंपनी के उपभोक्ताओं की मुसीबत बढ़ गई है। उपभोक्ताओं को भारी भरकम बिल का करंट मार रहा है। एक हजार से लेकर उपभोक्ताओं को 40 हजार रुपये तक बिल भेजे जा रहे।

बतादें कि कांग्रेस की प्रदेश सरकार में मध्यम वर्गीय उपभोक्ताओं के लिए डेढ़ सौ यूनिट बिजली खपत होने पर मात्र 350 रुपये महीने का बिल जारी करने की जो इंदिरा ग्रह ज्योति योजना शुरू की थी वह अब खत्म होती दिख रही है। जिन उपभोक्ताओं को कई महीने साढ़े तीन सौ रुपये के बिल जारी हुए थे। अब उन्हें 400 से 900 रुपये महीने का बिल आ रहा है। इसकी शिकायत लोगों ने बिजली जोन कार्यालय और जनप्रतिनिधियों से की है। कहा कि सरकार ने लोन की ईएमआई में 3 माह की राहत दी है।वैसी ही राहत बिजली बिल में दी जाए। इंदौर शहर में कुल छह लाख उपभोक्ता हैं। 40 फ़ीसदी यानी लगभग ढाई लाख उपभोक्ताओं को 350 रुपये मांग के बिल जारी हो रहे थे। सरकार बदलने के बाद अब योजना का लाभ सभी को नहीं मिल पा रहा है।

Leave a Comment