सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने की बिहार को लेकर टिप्पणी

पहले कहा हिंदुस्तान को पाकिस्तान से नहीं बिहार से खतरा फिर कहा यह बस एक जोक था।

पटना। सुशांत सिंह राजपूत मामले में बिहार के लोग बढ़-चढ़कर रिया चक्रवर्ती का विरोध कर रहे हैं। मंगलवार (08 सितंबर) को एनसीबी ने रिया को गिरफ्तार कर लिया है जिसके बाद बिहार के लोगों में जश्न का माहौल है। इसी बीच सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस और प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन मार्कंडेय काटजू ने बिहार को लेकर फिर से विवादित पोस्ट कर दिया है। 

काटजू ने मंगलवार को अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘अलाहाबाद यूनिवर्सिटी में मेरे शिक्षक और मशहूर उर्दू कवि फ़िराक़ गोरखपुरी ने एक बार कहा था कि हिंदुस्तान को खतरा पाकिस्तान से नहीं बिहार से है।’ हालांकि उन्होंने आगे बिहारियों से अपील करते हुए लिखा है कि यह बस एक जोक है। इसलिए कृपया मेरे खिलाफ मुकदमा न करें।

काटजू की इस पोस्ट पर कमेंट्स की बाढ़ आ गई है, वहीं काटजू भी लोगों के मनोरंजन करने में लगे हुए हैं। लोग पूर्व जस्टिस से अलग-अलग प्रदेशों के बारे में भी उनकी प्रतिक्रिया मांग रहे हैं और वह उन प्रदेशों पर अपनी विचार रख रहे हैं। वहीं कुछ लोग उन्हें पागल भी कह रहे हैं। फेसबुक यूजर प्रसन्ना वेंकटेश लिखती हैं कि काटजू पूरी तरह से पागल हो गए हैं और उनका इलाज चल रहा है। कृपया इनकी बातों को गंभीरता से न लें। आखिर में उन्होंने भी काटजू से कहा है कि यह एक जोक है मेरे खिलाफ केस न करें।

काटजू के ड्रग सप्लायर की जांच करे एनसीबी

काटजू के इस पोस्ट पर भास्कर ने एनसीबी से मांग किया है कि वह जस्टिस काटजू के ड्रग सप्लायर के बारे में भी जांच करें और पता लगाएं। वहीं आदित्य ने कहा है कि, ‘एक बार किसी महान व्यक्ति कुणाल कामरा ने कहा था की देश को न पाकिस्तान से खतरा है और ना बिहार से, देश को खतरा तो 60 वर्ष के ज्यादा उम्र के सभी बूढों से है। 

Leave a Comment