एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने जहरीली दवा पीकर की सामूहिक आत्महत्या

दाहोद शहर के सुजईबाग इलाके में एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने जहरीली दवा पीकर सामूहिक आत्महत्या कर ली। मृतकों में दंपती के साथ उनकी तीन बेटियां शामिल हैं। बताया जाता है, परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था और लाखों रुपए का कर्ज हो गया था। मृतकों में सैफीभाई उर्फ सैफुद्दीन दुधियावाला (42) के अलावा पत्नी मेहजबीन, 16 साल बेटी जैनब, अरवा और 7 साल की हुसैना हैं। घटना गुरुवार रात की बताई जा रही है।

सुजईबाग के शिरीन के अपार्टमेंट की पांचवीं मंजिल पर रहने वाले 42 साल के सैफीभाई उर्फ सैफुद्दीन दुधियावाला अपार्टमेंट के बेसमेंट में पतरों की खाली पेटियां बेचने और मिठाई के पैकेट बनाने का व्यवसाय करते थे।
आशंका है कि सैफीभाई ने शरबत में पहले परिवार के चारों लोगों को जहरीला पदार्थ मिलाकर पिलाया, फिर खुद ने पी लिया। जानकारी शुक्रवार को तब मिली जब पिता शब्बीरभाई और मां मरीयमबेन, जिन्हें दाहोद में बहन के घर भेज दिया था वो सुबह 8 बजे लौटे। परिवार मूल रूप से आलीराजपुर जिले के बरझर का रहने वाला है।


चार गिलास उल्टे थे, एक सीधा

घटना के बाद पुलिस और फॉरेंसिक टीम पहुंची। यहां किचन में कांच के चार गिलास उल्टे रखे मिले और एक सीधा। ऐसे में ये संभावना जताई जा रही है कि किसी एक ने पहले चार लोगों को शरबत दिया, फिर उनके गिलास धोकर खुद ने पी लिया। सिंक में केमिकल जैसा सफेद निशान दिखाई दिया।


हमें जबरदस्ती भेजा था

मृतक के पिता शब्बीरभाई दुधियावाला ने बताया, मुझे कल शाम 4 बजे जबरदस्ती सैफी मोहल्ला में बेटी के घर भेज दिया। पत्नी मरियम और मैं चले गए। रात वहीं रुके थे। सुबह 8 बजे वापस आए। घर के दरवाजे खुले थे। अंदर देखा तो सब मृत पड़े थे। सब रिश्तेदारों को फोन करके बुलाया। बेटी जैनब और अरवा जुड़वा थी। एक दिन पैदा हुई और एक दिन ही मौत हो गई।

Leave a Comment