इकोनॉमी-बेरोजगारी पर बिफरी कांग्रेस, रामलीला मैदान में 30 नवंबर को करेगी रैली

देश में आर्थिक सुस्ती, बेरोजगारी समेत कई मुद्दों को लेकर कांग्रेस 30 नवंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में रैली आयोजित करेगी. पार्टी ने शनिवार को इसका ऐलान किया. कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा, ‘बीजेपी के खिलाफ जिला और राज्य स्तर पर प्रदर्शन 25 नवंबर तक खत्म हो जाएंगे. इसके बाद दिल्ली के रामलीला मैदान में 30 नवंबर को बीजेपी की जनता विरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा. इस विरोध-प्रदर्शन को ‘भारत बचाओ रैली’ नाम दिया गया है क्योंकि लोगों को बहुत ज्यादा परेशानी हो रही है.’

कांग्रेस ने शनिवार को अपने महासचिवों, फ्रंटल संगठन, विभागीय व राज्य इकाई के प्रमुखों के साथ बैठक की. वेणुगोपाल ने कहा, केंद्र की जनता विरोधी नीतियों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के कार्यक्रमों के बारे में बात करने के लिए यह बैठक बुलाई गई थी, जिसमें आर्थिक मंदी, किसानों की समस्या, बेरोजगारी और अन्य मुद्दे शामिल हैं. इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मोदी सरकार पर हमला बोला था. उन्होंने कहा, नौकरी पैदा नहीं हो रहीं और किसान आत्महत्या कर रहे हैं. लोग भी बीजेपी के वादों से तंग आ चुके हैं. हमारे भी कान पक गए हैं और लोग ये फालतू बातें नहीं सुनते हैं.

अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती को लेकर मोदी सरकार ने कई बड़े फैसले लिए. लेकिन उनसे अर्थव्यवस्था की सेहत सुधारती नजर नहीं आ रही है. चालू वित्‍त वर्ष (1 अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2020) में डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन, लक्ष्‍य के 50 फीसदी से भी कम हुआ है. वहीं अक्टूबर में आयात और निर्यात दोनों में कमी आई है. अक्टूबर में निर्यात 1.11 फीसदी लुढ़ककर 26.38 अरब डॉलर रहा. वहीं आयात 16.31 फीसदी घटकर 37.39 अरब डॉलर रहा.

भारत के लिए बुरी खबर इसलिए भी है क्योंकि हाल ही में रेटिंग एजेंसी मूडीज ने नवंबर महीने में चालू वित्त वर्ष के लिए देश की आर्थिक वृद्धि दर यानी जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को 5.8 फीसदी से घटाकर 5.6 फीसदी कर दिया है. अक्‍टूबर में मूडीज ने ग्रोथ रेट अनुमान 6.2 फीसदी से घटाकर 5.8 फीसदी किया था. इससे पहले मूडीज ने भारत की इकोनॉमी के आउटलुक को स्‍टेबल से घटाकर निगेटिव कर दिया था.

Leave a Comment