मध्यप्रदेश में वापस लिए जाएंगे कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज मामले

भोपाल। मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के नवनियुक्त विधि और विधायी कार्य मंत्री पीसी शर्मा ने शनिवार को कहा कि बीजे पी सरकार के दौरान प्रदेश में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ राजनीति से प्रेरित होकर दर्ज किये गये मामले वापस लिए जाएंगे।

पीसी शर्मा ने कहा, ‘‘मैं अपने विभाग (विधि और विधायी कार्य) के प्रमुख सचिव से जल्द ही इस मामले में प्रस्ताव तैयार करने के लिये चर्चा करुंगा.’’ उन्होंने कहा कि प्रस्ताव को आगे की कार्रवाई के लिये मुख्यमंत्री कमलनाथ के समक्ष पेश किया जायेगा।

पीसी शर्मा ने कहा कि आंदोलनों में शामिल होने वाले सरकारी कर्मचारी नेताओं के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने पर विचार किया जाएगा, उन्होंने कहा कि पत्रकारों के खिलाफ दर्ज मामलों को भी वापस लेने पर विचार किया जायेगा। साथ ही कांग्रेस घोषणा पत्र में किये गये वादे के अनुसार प्रदेश में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने का भी प्रस्ताव है। शर्मा ने एक सवाल के जवाब में कहा कि महिलाओं के खिलाफ मामलों की शीघ्र सुनवाई त्वरित अदालतों में कराने की व्यवस्था की जायेगी।

Leave a Comment