दिग्विजय जी ने कहा: भाजपा सबसे पहले यह स्पष्ट कर दे कि नाथूराम गोडसे को देश भक्त मानती है या नहीं

गांधी जयंती पर प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा एवं कांग्रेस ने प्रदेश भर में रैली एवं विभिन्न आयोजन किया। इस दौरान दलों के नेताओं ने गांधी के बताए मार्ग पर चलने का दावा करते नजर आए। साथ ही गांधी की विचारधारा को लेकर सियासत से पीछे भी नहीं हटे। भाजपा संकल्प यात्रा निकाल रही है| इसको लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बीजेपी से सवाल किया है कि भाजपा स्पष्ट करे कि क्या वे नाथूराम गोडसे को देश भक्त मानते हैं या नहीं|

दरअसल, दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर बीजेपी पर निशाना साधा है, उन्होंने कहा मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि भाजपा को महात्मा गॉंधी की याद तो आई। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि “भाजपा ने तय किया है कि उनके नेता गण 2 अक्टूबर से लेकर 30 अक्टूबर तक पंचायतों में 150 किमी की पद यात्रा करेंगे। मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि भाजपा को महात्मा गॉंधी की याद तो आई। मेरा उन्हें सुझाव है कि गॉंधी जी के जो प्रमुख सामाजिक परिवर्तन के विषय थे उन पर वे जनता में चर्चा अवश्य करें। छुआ छूत के खिलाफ और दलितों को मंदिरों में प्रवेश, २- ग्राम स्वराज्य , हिन्दू मुस्लिम एकता व साम्प्रदायिक सद्भाव नशा बंदी। और ५- भाजपा को स्पष्ट करना चाहिये कि क्या वे नाथूराम गोडसे को देश भक्त मानते हैं या नहीं? यदि वे नाथूराम गोडसे को देश भक्त मानते हैं तो उन सभी को जो गोडसे को महात्मा गॉंधी का हत्यारा मानते भाजपा की पद यात्रा का विरोध करना चाहिये। गौरतलब है कि भाजपा हाईकमान के निर्देश पर भाजपा सभी संसदीय क्षेत्रों में गांधी संकल्प यात्रा निकाल रही है। जिसके तहत भाजपा नेता गांधी की विचारधारा का प्रचार करेंगे। भाजपा की इस यात्रा को लेकर कांग्रेस ने निशाना साधा है।

गांधी पर जमकर सियासत

गांधी जयंती पर दोनों दलों के नेताओं के एक-दूसरे पर गांधी को सियासत के लिए अपनाने के आरोप लगाते सुनाई दिए। इससे पहले गांधी जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया ने गांधी के सिद्धांत को अपनाया है। गांधी के बताए मार्ग तनाव से मुक्ति का सशक्त माध्यम है। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा ने इतने साल तो यात्रा चलाई नही है, उनको पिछले कुछ सालों में बापू याद आये हैं। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस विचारधारा ने गांधी की हत्या की, वही रैली निकाल रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी गांधी को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। गांधीजी के हत्या नाथराम गोडसे को राष्ट्रभक्त बताकर विवादों में रहने वाली भोपाल सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने ट्वीटर पर महात्मा गांधी को नमन किया। प्रज्ञा ने पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री का नाम पहले और गांधीजी का नाम बाद में लिखा। यह भी चर्चा का विषय है।

गांधी को किस रूप में जनता के सामने रखेगी भाजपा: दिग्विजय

जिस विचारधारा ने गांधी की हत्या की वह अपने कार्यकर्ताओं को संदेश दे रहे हैं कि एक माह तक ग्राम पंचायत में पदयात्रा करें। मैं उनसे यह पूछना चाहता हूं कि आखिर आप वहां कहेंगे क्या? गांधी को किस रूप में जनता के सामने रखेंगे? गांधी दर्शन या गोडसे दर्शन या गोलवलकर दर्शन? यह आप हमें बता दीजिए।

सत्ता के लिए किया गांधी नाम का जाप

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि गांधीजी एक व्यक्ति नहीं, बल्कि जीते जागते विचार थे और उन विचारों की प्रासंगिकता आज भी है। दुर्भाग्य से उनके विचारों का अनुसरण कर उन्हें समाज के साथ एकात्म करने की दिशा में पूर्ववर्ती सरकारों ने कोई सार्थक प्रयास नहीं किया। कांग्रेस ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम का जाप सिर्फ सत्ता प्राप्ति के लिए किया।

Leave a Comment