बीजेपी एक और सांसद का विवादित बयान- महिला को आतंकवादी कहना महात्मा गांधी की हत्या से बदतर

नई दिल्ली. संसद के शीतकालीन सत्र में भारतीय जनता पार्टी के सांसद निशिकांत दूबे ने महात्मा गांधी से जुड़ा एक ऐसा बयान दिया है जो फिर बीजेपी के लिए मुसीबत बन सकता है.

शुक्रवार को मध्य प्रदेश के भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने संबंधी बयान पर माफी मांगी. उन्होंने कहा कि उनके बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया. इसके बाद बीजेपी सांसद निशिकांत दूबे ने सदन में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान पर टिप्पणी की.

निशिकांत ने राहुल के उस ट्वीट का जिक्र किया जिसमें उन्होंने प्रज्ञा सिंह ठाकुर को ‘आतंकवादी’ बताया था. निशिकांत दूबे ने मांग की है कि राहुल के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाया जाए. उन्होंने कहा कि सदन के एक सदस्य वह भी महिला सदस्य के लिए यह बोलने पर शर्म आनी चाहिए.

निशिकांत ने कहा कि राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने कहा कि एक महिला को आतंकवादी कहना, सदन के सदस्य को आतंकवादी कहना यह महात्मा गांधी की हत्या से भी ज्यादा बदतर है.’

यह था राहुल गांधी का ट्वीट

बता दें गुरुवार को कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की थी. उन्‍होंने ट्वीट किया था, ‘आतंकी प्रज्ञा ने आतंकी गोडसे को बताया देशभक्‍त. यह भारतीय संसद के इतिहास का सबसे दुखद दिन है.’

हालांकि लोकसभा स्पीकर ने उनके बयान को सदन की कार्यवाही में शामिल नहीं किया है. भोपाल सांसद के बयान को लेकर राजनीति भी गरमा गई है. राहुल गांधी ने उनके बयान पर कहा है कि प्रज्ञा ठाकुर पर कार्रवाई की मांग कर वह अपना वक्त जाया नहीं करना चाहते हैं.

Leave a Comment