अजय चौटाला को फरलो देने से आरएसएस हुआ नाराज, कांग्रेस को थमाया बड़ा मुद्दा जानिए…

केंद्र सरकार कांग्रेस के कई बड़े नेताओं पर भ्रष्टाचार के मामले में सख्त कार्रवाई कर रही है। पी चिदंबरम और डीके शिवकुमार इस समय भी जांच के घेरे में हैं और कई अन्य नेताओं पर भी सीबीआई का शिकंजा कस सकता है। ऐसे समय में भ्रष्टाचार के एक मामले में सजा काट रहे अजय चौटाला को आनन-फानन में फरलो दिए जाने से कांग्रेस को बैठे-बिठाए बड़ा मुद्दा हाथ लग गया है।
यही कारण है कि अजय चौटाला को फरलो दिए जाने का विरोध बाहर ही नहीं, भाजपा और आरएसएस के अंदर भी हो रहा है। आरएसएस ने इस पर अपनी गहरी आपत्ति जताई है। भाजपा के एक शीर्ष नेता के मुताबिक, अजय चौटाला को फरलो दिए जाने की टाइमिंग से बेहद नकारात्मक संदेश गया है। इससे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे केंद्रीय नेतृत्व की मंशा पर भी सवाल खड़े हुए हैं।

इसी कारण पार्टी के कुछ नेता इसे उचित नहीं मान रहे हैं। आरएसएस के एक शीर्ष नेता ने भी फरलो पर अपना विरोध जताया है। दिल्ली प्रदेश के एक नेता के मुताबिक, अजय चौटाला को फरलो दिए जाने का मुद्दा पार्टी के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

चुनाव में पार्टी अरविंद केजरीवाल सरकार के दौरान किए गए कुछ कार्यों में हुए भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाने जा रही है। ऐसे में अगर पार्टी किसी अपराधी के साथ खड़ी दिखती है तो इससे हमारी अपील कम होगी। नेता के मुताबिक, हरियाणा का फायदा दिल्ली के नुकसान में तब्दील हो सकता है।


कांग्रेस बना सकती है मुद्दा
भाजपा को आशंका है कि कांग्रेस इसे आगामी विधानसभा चुनाव के दौरान बड़ा मुद्दा बना सकती है। उसकी यह आशंका बेबुनियाद भी नहीं है क्योंकि दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के नए चुने गए अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने इसे भाजपा-आम आदमी पार्टी की साजिश करार दिया।

सुभाष चोपड़ा ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान जब आम आदमी पार्टी जजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही थी तब भी अरविंद केजरीवाल ने अजय चौटाला को फरलो दिए जाने के आदेश पर मुहर नहीं लगाई क्योंकि उन्हें लगता था कि इससे जजपा मजबूत होगी जिसका सीधा नुकसान भाजपा को होता।

सुभाष चोपड़ा ने कहा कि अब जबकि इस बात की संभावना बन रही थी कि जजपा कांग्रेस के साथ मिलकर हरियाणा में सरकार बना सकती है, केजरीवाल ने अजय चौटाला को फरलो देकर उसे भाजपा के पाले में जाने का रास्ता साफ कर दिया।

उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में वे भ्रष्टाचार की इस साजिश को बेनकाब करेंगे और इस मुद्दे को जनता के पास ले जाएंगे। इसके पहले कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी भी इस मुद्दे को उठा चुकी हैं।

Leave a Comment