हंगामे के बाद पूरे दिन के लिए लोकसभा स्थगित, टीडीपी के 12 सांसद निलंबित

नई दिल्ली। संसद के निचले सदन लोकसभा में गुरुवार को भी एआईएडीएमके और टीडीपी के सदस्यों के लगातार जारी हंगामे के कारण कार्यवाही को दिन भर के लिए स्थगित कर दिया गया, सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होते ही एआईएडीएमके और तेलुगू देशम पार्टी के सदस्य स्पीकर के आसन के पास पहुंच गए और अपनी विभिन्न मांगों को लेकर नारेबाजी करने लगे।

एआईएडीएमके के सांसद कावेरी नदी पर बांध बनाने के प्रस्ताव को वापस लेने की मांग कर रहे थे, जबकि टी़डीपी ने आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने की मांग को लेकर हंगामा किया. हंगामे के बीच स्पीकर सुमित्रा महाजन ने प्रश्नकाल संचालित करने की कोशिश की। इस बीच एआईएडीएमके के कुछ सदस्यों ने हवा में कागज उछाले, महाजन ने विरोध कर रहे सदस्यों के ऐसा न करने की चेतावनी दी, लेकिन उन्होंने इसे अनसुना कर दिया।

सुमित्रा महाजन ने हंगामा कर रहे टीडीपी के 12 सांसदों को निलंबित कर दिया, इससे पहले बुधवार को भी लोकसभा स्पीकर ने रूल 374ए के तहत अन्नाद्रमुक के 24 सांसदों को पांच दिन के लिए निलंबित किया था। रूल 374ए स्पीकर को सदन की कार्यवाही बाधित करने वाले सदस्यों को निलंबित करने का अधिकार देता है।

कावेरी नदी पर बांध के निर्माण का विरोध कर रहे AIADMK और DMK सदस्यों के हंगामे की वजह से राज्यसभा में बुधवार को भी गतिरोध जारी रहा, शोर-शराबे से नाराज सभापति एम वेंकैया नायडू ने चेयर के करीब आकर नारेबाजी कर रहे तमिलनाडु के इन दोनों दलों के 12 सांसदों पर पूरे दिन के लिए सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने से रोक लगा दी और उन्हें सदन से बाहर चले जाने को निर्देश दिया।

Leave a Comment