मध्यप्रदेश के 15 आदिवासी युवकों के साथ एक कंपनी के लोगों ने बेरहमी से मारपीट की

पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता कराते हुए सभी को ट्रेन से अनूपपुर रवाना कर दिया

भोपाल – मध्यप्रदेश के 15 आदिवासी युवकों ने आरोप लगाया है कि गुजरात के राजकोट में उनके साथ एक कंपनी के लोगों ने बेरहमी से मारपीट की है। ये सभी अनूपपुर जिले के रहने वाले हैं। ये सभी गुजरात की एक निजी कंपनी में काम करने गए थे। पीड़ित युवकों के मुताबिक शुक्रवार की रात को चोरी के शक में कंपनी के मैनेजर और ड्राइवर ने उन्हें केबल से पीटा। चार लोगों को गंभीर चोटें आई हैं। मारपीट के बाद उन्हें कई घंटों तक बंधक बनाकर रखा।
पीड़ित युवकों ने बताया कि एक परिचित के जरिए राजकोट पुलिस को शिकायत की। पुलिस हमें थाने लेकर आई। पुलिस ने यहां दोनों पक्षों के बीच लिखित में समझौता करा दिया।

यूपी के रहने वाले कर्मचारी ने लगाया था चोरी का आरोप

राजकोट की कंपनी से स्क्रैप कॉपर 891 केजी चोरी हो गया था। 4 अगस्त को कंपनी ने इस मामले में यूपी के रहने वाले कर्मचारी शंकर नामदेव से पूछताछ की। आरोप है कि उसने बिना किसी सबूत के संतलाल, मुकेश, शिवम और प्रेमलाल पर चोरी का आरोप लगा दिया।
पीड़ितों का कहना है कि इसके बाद कंपनी ने हम सभी को बंधक बना लिया। हमारे आधार कार्ड और मोबाइल जब्त कर लिए। कंपनी के ड्राइवर धावल एवं मैनेजर दीपक ने केबल से हमें जमकर पीटा। हालांकि बाद में कंपनी ने उनका इलाज भी कराया।
4 अगस्त को देर रात में सभी युवकों ने सिंदूरी के रहने वाले गणेश राठौर से संपर्क किया। गणेश राठौर की राजकोट के एक बैंक मैनेजर भगवान दास राठौर से जान पहचान थी। कंपनी ने इसके बाद सभी का मोबाइल और आधार कार्ड जब्त कर लिया। सूचना मिलने पर पुलिस कंपनी पहुंची। पुलिस ने यूपी के रहने वाले कर्मचारी शंकर नामदेव से पूछताछ की। उसने बताया कि मैंने ही चोरी की थी। चोरी का सामान फेंक दिया था।
इसे कोई और उठाकर ले गया। इसके बाद राजकोट की पाल थाना पुलिस पीड़ित युवकों को थाने लेकर आई। यहां पुलिस ने 5 अगस्त को युवकों से हुए मारपीट के मामले में दोनों पक्षों में समझौता कराते हुए सभी को ट्रेन से 5 अगस्त की रात में अनूपपुर के लिए रवाना कर दिया।​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​
अनूपपुर जिले के क्यौटार के रहने वाले संतलाल कोल, सागर कोल, गोपी कोल, हरिओम राठौर, गोविंद कोल, राजकुमार कोल, प्रेमलाल, चचाई, मुकेश, धन्ने कोल, रोहित रौतेल, देवेंद्र कोल, करन मेहरा, राजाराम राठौर, ओमप्रकाश कोल, अजय कुमार रौतेल और संजय कुमार राजकोट में स्थित कोर केबल प्राइवेट लिमिटेड में काम करने के लिए गए थे। 6 महीने तक उन्होंने इस कंपनी में काम किया।

Leave a Comment