केंद्र सरकार को मणिपुर सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाना चाहिए – कुमारी शैलजा

अब तो सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया कि मणिपुर में कानून-व्यवस्था फेल हो चुकी

चंडीगढ़ – अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव कुमारी शैलजा ने म‎‎णिपुर में राष्ट्रप‎ति शासन लगाने की मांग की है। कुमारी शैलजा ने कहा कि इस समय मणिपुर बुरी तरह से जल रहा है। केंद्र सरकार और उसके मुखिया संसद में इस पर चर्चा से भाग रहे हैं। अब तो सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया है कि मणिपुर में कानून-व्यवस्था फेल हो चुकी है। संवैधानिक मशीनरी का ब्रेकडाउन हो चुका है। इसलिए भाजपा की केंद्र सरकार को तुरंत प्रभाव से मणिपुर सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाते हुए शांति बहाली होने तक सेना की तैनाती करनी चाहिए। मीडिया में जारी एक बयान में कुमारी शैलजा ने कहा है कि कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल मणिपुर की बिगड़ती स्थिति को लेकर पहले दिन से ही गंभीर हैं। लेकिन केंद्र सरकार, उसके मंत्री और प्रधानमंत्री ने इस पर चुप्पी साधी हुई है। मणिपुर की सच्चाई बाहर आने से पहले सत्ता में बैठे लोगों ने गलत बयानबाजी कर देश के लोगों को गुमराह करने का प्रयास किया, जो लोकतंत्र में किसी भी सूरत में माफी योग्य नहीं है।
पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हाल ही में विपक्षी गठबंधन इंडिया के सांसदों का एक प्रतिनिधि मंडल मणिपुर का दौरा करके आया है, जिसने वहां के हालात को करीब से देखा। इस बारे में मणिपुर की राज्यपाल को ज्ञापन भी दिया और अब राष्ट्रपति से भी मिले हैं। पर भाजपा के किसी नेता और केंद्र सरकार के किसी मंत्री ने एक बार भी मणिपुर जाने की हिम्मत नहीं जुटाई, क्योंकि उन्हें मालूम है कि वहां के हालात बेहद खराब हैं। सैलजा ने कहा कि विपक्षी दल जब भी आम जनता से जुड़ा कोई भी मुद्दा संसद में उठाता हैं तो केंद्र सरकार उसका जवाब देने की बजाए देश के लोगों को गुमराह करने लगती हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार हर मोर्चे पर फेल साबित हुई है। यह पहली ऐसी सरकार है, जो न तो देश की आंतरिक सुरक्षा को लेकर सतर्क है और न ही बाहरी सुरक्षा को लेकर ‎किसी तरह की ‎चिंता में है।

Leave a Comment