कूनो नेशनल पार्क में 9वें चीते की मौत का ज़िम्मेदार कौन है? – अखिलेश यादव

अब वो सब कहाँ हैं जो इस इवेंट को भाजपा-सरकार की शक्ति का प्रतीक मानकर प्रचार-प्रसार में जुटे थे

नई दिल्ली – श्योपुर के कूनो नेशनल पार्क में 9वें चीते की मौत के बाद विपक्षी दल हमलावर हैं। यूपी के पूर्व सीएम और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लगातार हो रही चीतों की मौतों के मामले पर सरकार पर सवाल उठाए हैं। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने ट्वीट कर पूछा- कूनो नेशनल पार्क में 9वें चीते की मौत का ज़िम्मेदार कौन है? अब वो सब कहाँ हैं जो इस इवेंट को भाजपा-सरकार की शक्ति का प्रतीक मानकर प्रचार-प्रसार में जुटे थे। इससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि ख़राब हो रही है, क्योंकि जहाँ से ये चीते आये थे उन देशों में इनके मरने की चर्चा है।
कूनो में चीते की मौत पर कांग्रेस नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री जयराम रमेश ने ट्वीट कर लिखा- कूनो में ज़रूर बड़ी चूक हुई है। आज सुबह नौवें चीते की भी मौत हो गई। यह तर्क पूरी तरह से बकवास है कि ये मौतें अपेक्षित हैं। अंतरराष्ट्रीय चीता विशेषज्ञों द्वारा इसे ख़ारिज़ कर दिया गया है। ऐसा तब होता है जब विज्ञान और पारदर्शिता को पीछे छोड़ दिया जाता है। ऐसा तब होता है जब किसी व्यक्ति के लिए दिखावा और अपना गुणगान ही सबसे उपर हो जाता है।
कूनो नेशनल पार्क में मादा चीता धात्री (टिबलिसी) की मौत हो गई है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक असीम श्रीवास्तव ने कहा- धात्री सुबह मृत पाई गई। मौत की वजह पता लगाने के लिए पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है। 26 मार्च से अब तक 9 चीतों की मौत हो चुकी है। इनमें तीन शावक भी शामिल हैं, जिनका जन्म कूनो में हुआ था। इसके पहले कूनो प्रबंधन ने प्रेस नोट जारी कर कहा, ‘कूनो नेशनल पार्क में बाड़े में रखे गए 14 चीते (7 नर, 6 मादा और 1 शावक) स्वस्थ हैं। कूनो और नामीबिया के वाइल्ड लाइफ एक्सपर्ट्स लगातार उनका हेल्थ चेकअप कर रहे हैं।

Leave a Comment